Life Style

lifestyle News : तांबे की बोतल से बार-बार पानी पीना खतरनाक है

कोरोना की वजह से मिली सीख से कई लोग अपने पूर्वजों द्वारा अपनाई गई जीवन की आदतों का पालन करने लगे है (lifestyle news in hindi)ं। प्लास्टिक की पानी की बोतलों से होने वाले नुकसान को समझते हुए वे एल्युमीनियम, मिट्टी, बांस, तांबे आदि की बनी बोतलों के इस्तेमाल में दिलचस्पी दिखा रहे है (lifestyle news in hindi)ं.

तांबे के बर्तन में पानी पीने का चलन भी बढ़ता जा रहा है (lifestyle news in hindi)। बाहर जाते है (lifestyle news in hindi)ं तो तांबे के लोटे में पानी भरकर पीते है (lifestyle news in hindi)ं। लेकिन अध्ययन में पाया गया कि तांबे के बर्तन में रखा पानी बार-बार पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है (lifestyle news in hindi)।

इसमें कोई संदेह नहीं है (lifestyle news in hindi) कि तांबे के उत्पादों का उपयोग करने से कई स्वास्थ्य लाभ होते है (lifestyle news in hindi)ं। कॉपर लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है (lifestyle news in hindi)। यह तंत्रिका कोशिकाओं और प्रतिरक्षा प्रणाली के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है (lifestyle news in hindi)। यह कोलेजन उत्पादन, हड्डियों और ऊतकों के विकास में भी मदद करता है (lifestyle news in hindi)। साथ ही कॉपर एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम कर सकता है (lifestyle news in hindi)।

डीएनए और सेल डैमेजिंग फ्री रेडिकल्स की उग्रता को नियंत्रित कर सकता है (lifestyle news in hindi)। कॉपर शरीर को पर्याप्त आयरन अवशोषित करने में भी मदद करता है (lifestyle news in hindi)। इस कारण चिकित्सा विशेषज्ञ भी तांबे की बोतल में पानी पीने की सलाह देते है (lifestyle news in hindi)ं।

लेकिन बहुत ज्यादा तांबे की बोतल का पानी पीना खतरनाक हो सकता है (lifestyle news in hindi)। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ ऑन डायटरी सप्लीमेंट्स द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार तांबे की बोतल का पानी पीना शरीर के लिए फायदेमंद होता है (lifestyle news in hindi)। लेकिन इसके फायदे कभी-कभी घूंट-घूंट कर ही लिए जा सकते है (lifestyle news in hindi)ं। तांबे की बोतल में बार-बार पानी भरने से जहर हो सकता है (lifestyle news in hindi)। ठीक से रखरखाव न करने पर इसमें जंग लग सकता है (lifestyle news in hindi)। कहा जाता है (lifestyle news in hindi) कि इससे समस्या और बढ़ जाती है (lifestyle news in hindi)।

कॉपर एक प्राकृतिक रक्त शोधक है (lifestyle news in hindi)। तांबे की बोतल का पानी प्रतिदिन या अधिक बार पीने से रक्त शोधन की प्रक्रिया सामान्य से अधिक बढ़ जाती है (lifestyle news in hindi)। इससे किडनी और लीवर खराब हो सकता है (lifestyle news in hindi)। तांबे के कणों और क्रिस्टल के साँस लेने से गले और नाक में जलन हो सकती है (lifestyle news in hindi)। आपको सिर दर्द और चक्कर आने की समस्या हो सकती है (lifestyle news in hindi)।

तांबे का पानी कितना पीना चाहिए, इसका भी नियम है (lifestyle news in hindi)। इसका पूरी तरह से पालन करके पाठकोंबिना किसी साइड इफेक्ट के तांबे के फायदे पा सकते है (lifestyle news in hindi)ं। उचित विधि यह है (lifestyle news in hindi) कि तांबे के बर्तन में रात को 6 से 8 घंटे के लिए पानी भरकर रख दें और अगले दिन इसे पी लें। इस पानी को दिन में सिर्फ दो गिलास पिएं। दिन भर न पियें।

सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से बेहतरीन परिणाम मिलते है (lifestyle news in hindi)ं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक कप पानी में केवल 0.47 मिलीग्राम कॉपर होना चाहिए। इसका मतलब है (lifestyle news in hindi) कि एक लीटर पानी में केवल 2 मिलीग्राम कॉपर होना चाहिए। प्रति दिन 10 मिलीग्राम से अधिक तांबे के दुष्प्रभाव हो सकते है (lifestyle news in hindi)ं। इसलिए तांबे के बर्तन में रखा पानी कम मात्रा में पीना बेहतर होता है (lifestyle news in hindi)।

स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें…

Compiled: trendnews100.com
lifestyle india, lifestyle news in hindi, lifestyle news in hindi Chhattisgarh, lifestyle news in hindi dainik bhaskar, lifestyle news in hindi download, lifestyle news in hindi headlines,

disclaimer : इस पोस्ट में मौजूद किसी भी कंटेंट के लिए Trend News की कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं है (lifestyle news in hindi)ं. पाठकोंहमारे facebook, Twitter पेजों के जरिए हमसे संपर्क कर सकते है (lifestyle news in hindi)ं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button